अटल जी की जादू जगाने की कला

Charisma of Atal Bihari Vajpayee

NK SINGH

भाजपा के प्रमुख प्रचारक और प्रधानमंत्री पद के उसके प्रत्याशी अटल बिहारी वाजपेयी अपनी चुनाव सभाओं में नागरिक सुविधाओं के नाम पर सरकारी कामकाज की खिल्ली कुछ इस तरह उड़ाते हैं:

मैं कहीं जा रहा था कि मैंने एक गड्ढा देखा।

मैंने पूछा,‘सड़क कहां है?‘

लोगों ने कहा,‘गड्ढे में

मैंने पूछा,‘गड्ढा कहां है?‘

उन्होंने कहा,‘सड़क में।

फिर मैंने एक व्यक्ति को उस गड्ढे में…. माफ कीजिएगा, सड़क पर स्कूटर चलाते देखा।

उसकी बीवी पिछली सीट पर बैठी थी। हर दो मिनट बाद वह पीछे मुड़कर उसे छूता था।

मैंने पूछा कि वह ऐसा क्यों कर रहा है।

उसका जवाब था,”मैं  आश्वस्त होना चाहता था  कि वह कहीं गिर तो नहीं गई।“

गोरखपुर, बिजनौर, मुरादाबाद में हर जनसभा में उनका यह चुटकुला लोगों को बहुत पसंद आया। Continue reading “अटल जी की जादू जगाने की कला”