“मैं तो साहब बन गया” : सीएम के साले संजय मसानी का सियासी सफ़र

Sanjay Singh Masani

Shivraj Singh Chouhan’s brother-in-law shifts from BJP to Congress

NK SINGH

वारासिवनी: कांग्रेस उम्मीदवार संजय सिंह मसानी वोट कितने बटोरेंगे, कहना मुश्किल है, पर वे तालियाँ खूब बटोर रहे हैं. मसानी मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साले हैं. चुनाव के ठीक पहले उन्होंने भाजपा का साथ छोड़कर कांग्रेस का दामन थामा. Continue reading ““मैं तो साहब बन गया” : सीएम के साले संजय मसानी का सियासी सफ़र”

मध्य प्रदेश विधान सभा चुनाव २०१८ : कैसे कांग्रेस ने सुनहरा मौका खोया

Dainik Bhaskar 13 December 2018

MP assembly election 2018: a tale of missed opportunity

NK SINGH

कांग्रेस अगर २०१३ के मुकाबले अपनी सीटों में लगभग दोगुना इजाफा कर पाई है तो इसपर उसे इठलाने की जरूरत नहीं. भले उसे भाजपा से ५ सीटें ज्यादा हासिल हुई हों, पर वोटिंग परसेंटेज देखें तो कांग्रेस को भाजपा से कम वोट मिले हैं!

सही है, पांच साल पहले उसके और भाजपा के बीच आठ परसेंट वोटों का फासला था और उस बड़े अंतर को पाटने में वह कामयाब रही है. पर बहुमत से दो सीट पीछे रह जाना उसे हमेशा सालता रहेगा.

इस खंडित जनादेश के लिए कांग्रेस खुद जिम्मेदार है. वह अपने पत्ते अच्छी तरह खेलती तो नतीजे अलग हो सकते थे. Continue reading “मध्य प्रदेश विधान सभा चुनाव २०१८ : कैसे कांग्रेस ने सुनहरा मौका खोया”

बसपा, सपा, गोंडवाना से हाथ नहीं मिलाकर कांग्रेस ने गलती की

Fragmented Opposition helps BJP in Vindhya

NK SINGH

चित्रकूट: तुलसीदास ने लिखा है कि राम जब इन जंगलों से गुजरे थे तो उन्हें पहचान कर नदी, वन, पहाड़ और दुर्गम घाटियों ने खुद रास्ता दिया और बादलों ने आकाश में छाया की. मानस से शुरू यह सफ़र विन्ध्य की टूटी-फूटी सड़कों की धूल फांकते हुए कब राग दरबारी के विद्रूप में बदल गया, पता ही नहीं चला. Continue reading “बसपा, सपा, गोंडवाना से हाथ नहीं मिलाकर कांग्रेस ने गलती की”