कलेक्टर ने सड़क की शिकायत करने वाले को जेल भेजा

Citizens march against Collector for sending senior citizen to jail

Collector sends to prison senior citizen for complaining about bad roads

NK SINGH

प्रमोद पुरोहित ने सपने में भी नहीं सोचा था कि अपने गाँव की खस्ताहाल सड़क की शिकायत करने पर उन्हें जेल जाना पड़ेगा। मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर जिले में पिछले दिनों ठीक ऐसा ही हुआ। सड़क मरम्मत करवाने की मांग लेकर जिला कलेक्टर की जन सुनवाई में पहुंचे रेलवे के 61 वर्षीय इस रिटायर्ड जूनियर इंजीनियर को चार दिन जेल में गुजारने पड़े। कलेक्टर के कहने पर उन्हें गिरफ्तार किया गया था, सो उसके अधीन काम करने वाले एसडीएम ने भी जमानत नहीं दी।

नौकरी से रिटायर होने के बाद पुरोहित अपने गाँव खुरपा में बस गए थे। वे खेती-किसानी कर गुजारा करते हैं। आस-पास के गांवों में उनके परिवार की बड़ी इज्जत है। उनके गाँव से बगल के कस्बे को जोडऩे वाली सड़क काफी खराब हालत में है। सड़क इतनी खराब हालत में है कि बारिश के दिनों में उस पर पैदल चलना भी मुश्किल है। वे दो साल से उस सड़क को ठीक करवाने की जद्दो-जहद कर रहे थे। पर तमाम कोशिशों के बावजूद सरकार उस सड़क की सुध नहीं ले रही थी। Continue reading “कलेक्टर ने सड़क की शिकायत करने वाले को जेल भेजा”

The bad and the ugly of Madhya Pradesh

DB Post 1 September 2018

NK SINGH

When Pramod Purohit, 61, went to the Narsinghpur collector’s office to complain about the horrible condition of road to his village, little did he know that his action would land him in jail. But that is what happened when the retired junior engineer of Indian Railways went to the weekly public hearing for grievance redressal organised by the collector.

The road leading to Purohit’s village, Khurpa, is in pathetic condition — notwithstanding CM Shivraj Singh Chouhan’s claim of MP’s roads being better than America’s. Purohit, as a concerned citizen, was trying to get it repaired for a long time. Continue reading “The bad and the ugly of Madhya Pradesh”