मीडिया: पक्षधरता को प्रतिबद्धधता समझने की भूल

Cartoon on media
Courtesy: cartoonsbyirfan

Why Media has become so partisan?

NK SINGH

हमारे समय में पक्षधरता को प्रतिबद्धता समझा जा रहा है. दोनों बुरी तरह गड्ड मड्ड हो गए हैं. उनके बीच की लकीर लगभग मिट गयी है.

उससे भी ज्यादा खतरनाक यह है कि कई मीडिया संस्थान और पत्रकार अपनी पक्षधरता को एक तमगे के रूप में पहन रहे हैं.

उन में  से कई आज के समय के नामी-गिरामी पत्रकार हैं, मीडिया आइकॉन हैं, सेलेब्रिटी हैं. वे बड़े गर्व के साथ राजनीतिक पार्टियों के, विचारधाराओं के झंडे उठा कर चल रहे हैं. Continue reading “मीडिया: पक्षधरता को प्रतिबद्धधता समझने की भूल”